Wednesday, February 28, 2024
Latest:
उत्तराखंड

बड़ी ख़बर: अगले तीन दिन उत्तराखंड में बंद रहेंगे सभी दफ़्तर, राजधानी देहरादून में 99% ICU bed हुए फ़ुल- पंकज पांडेय

उत्तराखंड प्रदेश में कोरोना को काबू करने के लिए सभी अस्पतालों-सरकारी-निजी मेडिकल कॉलेजों में ऑक्सीज़न बेड बढ़ाए जा रहे। इसी हफ्ते शुक्रवार से रविवार (23-25 अप्रैल) तक दफ्तर बंद रहेंगे। उस दौरान दफ्तर सेनिटाइज़ किया जाएगा। सचिव (स्वास्थ्य) डॉ. पंकज पांडे ने कहा, `फालतू में कोई घर से न निकले। संसाधन और क्षमताएँ बढ़ाने की भी सीमा होती है’।

उन्होंने कहा कि राज्य में रोजाना 50 हजार टेस्ट हो रहे हैं। RT-PCR टेस्ट की रिपोर्ट देने की लैब की अपनी सीमित क्षमता है। इसलिए प्राइवेट लैब को भी टेस्ट के लिए ज़िम्मेदारी दी गई है। उत्तराखंड में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की प्रमुख वजह उन्होंने UP के मरीजों के भी यहाँ ईलाज के लिए आने को बताया।

डॉ.पंकज के अनुसार देहरादून में 99 फीसदी ICU बेड भर चुके हैं। बाकी शहरों में काफी बेड खाली हैं। 1972 आइसोलेशन, 436 वेंटिलेटर, 301 ICU बेड उपलब्ध है। देहरादून में राज्य के साथ ही उत्तर प्रदेश के मरीज भी आ रहे हैं। इसके चलते यहाँ अतिरिक्त दबाव है। 99 फीसदी ICU बेड भरे हुए हैं। इसको बढ़ाने और मौजूदा ICU बेड खाली कराने की कोशिश की जा रही है।

सभी निजी अस्पतालों-मेडिकल कॉलेजों को ऑक्सीज़न बेड और ICU बेड बढ़ाने को कहा है। उनको जरूरत होगी तो सरकार पैसा भी देगी। महाराणा प्रताप स्पोर्ट्स कॉलेज के Covid Care Centre में 1000 ऑक्सीजन बेड लगाए जा रहे हैं। दून अस्पताल में 1500 ऑक्सीजन बेड बढ़ाए जाएंगे। हरिद्वार-ऋषिकेश-देहरादून में बेड की क्षमता बढ़ाने के लिए एम्स, जौली ग्रांट, सिनर्जी, CMI को कहा गया है।

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि राज्य के पास 50 हजार vaccine और आ रही। 13,500 रैमडेसीविर इंजेक्शन में 3 हजार आज ही पहुँच रही। अभी को वैक्सीन-कोवि शील्ड उपलब्ध है। तीसरी स्पूतनिक भी उपलब्ध कराई जा रही। मरीज की मर्जी होगी वह कौन सी वैक्सीन चाहता है। सभी अस्पतालों से कहा गया है कि वे अपने यहाँ 75 फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित रखे। कल से कोरोनेशन अस्पताल में भी कोरोना का ईलाज शुरू होगा। गढ़ी कैंट के अस्पताल में ऑक्सीजन युक्त 150 बेड के साथ कोरोना अस्पताल शुरू किया जा रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *