Monday, May 27, 2024
Latest:
उत्तराखंडदेश

IMA की सुरक्षा होगी और पुख़्ता, सोमवार को दो नई सुरंग का होगा शिलान्यास

देहरादून। देहरादून स्थित भारतीय सैन्य अकादमी की सुरक्षा को चाक-चौबंद करने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों ने कमर कस ली है। गुजरे वर्षों में ima पर आतंकी खतरा मंडराता रहा है। ऐसे में हमेशा यहां जेंटलमैन कैडेट्स व सेना के आला अफसरों के मूवमेंट को देखते हुए हमेशा से अकादमी में एक तरफ से दूसरी तरफ जाने के लिए टनल की जरूरत महसूस होती रही है। इसके लिए सेना एवं जनता द्वारा लंबे समय से मामले को उठाया जा रहा था। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में देश की सीमाओं को पहले से ज्यादा सुरक्षित करने वाली केंद्र सरकार ने देहरादून में स्थित भारतीय सैन्य अकादमी की सुरक्षा की भी अभेद्य बनाने का जिम्मा उठाया है। इसी क्रम में आगामी 28 सितंबर को ima में दो टनल का शिलान्यास होने जा रहा है।

दूनवासियों को भी होगी सहूलियत

देहरादून वासियों की वर्षों पुरानी मुराद पूरी होने जा रही है। अब ima के बाहर दूनवासियों को बेवजह इंतजार नहीं करना होगा। दरअसल, यहां पर अकादमी में एक स्थान से दूसरे स्थान पर मूवमेंट के दौरान लोगों को भी लंबा इंतजार करना पड़ता था।

45 करोड़ से बनेंगी दो टनल

केंद्र सरकार ने ima में बनने वाली दो टनल के लिए 45 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं। आगामी 28 सितंबर को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इन दोनों टनल का वर्चुअल शिलान्यास करेंगे। यह शिलान्यास आईएमए में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की उपस्थिति में अपराह्न 3ः30 बजे 28 सितंबर को किया जायेगा।

इस संबंध में आज मुख्यमंत्री आवास में आईएमए कमाण्डेंट ले. जनरल जे.एस. नेगी ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से भेंट की।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा आईएमए में दो सुरंगों के निर्माण के लिए केन्द्र सरकार से 45 करोड़ रूपये की स्वीकृति मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि आईएमए में दो टनल (अन्डरपास) बनेंगे। एक आर-पार जाने के लिए और एक आने के लिए। परेड के दौरान आईएमए में सुरक्षा की दृष्टि से राज्य सरकार एवं सेना को भी चिंता रहती थी। इसलिए रक्षा मंत्री से दो सुरंगों के लिए अनुरोध किया गया था, जिस पर उन्होंने शीघ्र ही अपनी सहमति दी। इसके लिए उन्होंने रक्षा मन्त्री का आभार व्यक्त किया। इन सुरंगों के बनने से परेड के दौरान लोगों को आवाजाही की जो दिक्कतें होती थी, उसका भी समाधान होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *