Thursday, February 2, 2023
Home उत्तराखंड अति संवदेनशील गांवों के प्रभावित परिवारों के पुनर्वास को मुख्यमंत्री ने दी...

अति संवदेनशील गांवों के प्रभावित परिवारों के पुनर्वास को मुख्यमंत्री ने दी हरी झंडी, 15 भूकंप सेंसर के लिए 45 लाख की मंजूरी

चार जिलों में आपदा के दृष्टिगत अत्यधिक संवेदनशील प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सुरक्षित स्थानों पर विस्थापन और पुनर्वास की अनुमति दी है। इसके लिए आपदा प्रबंधन की ओर से भेजे गए प्रस्ताव के अनुसार मानक मदों के अनुसार धनराशि भी जारी करने की मंजूरी दी है।

टिहरी जिले के अत्यधिक संवेदनशील ग्राम बेथाण नामे तोक के चार प्रभावित परिवारों के विस्थापन-पुनर्वास नीति के तहत विस्थापित करने के राज्य स्तरीय पुनर्वास समिति की बैठक में पारित प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने अनुमोदित कर दिया है। इसके तहत चार परिवारों को नए स्थान पर पुनर्वास किया जाना है। इन परिवारों के भवन निर्माण, गौशाला निर्माण और विस्थापन भत्ता के लिए मुख्यमंत्री ने 17 लाख की धनराशि की संस्तुति की है। इनमें से दो परिवार वर्तमान में संयुक्त रूप से एक ही मकान में रहते हैं लेकिन विस्थापन में इन्हें अलग-अलग पुनर्वास की सुविधा मिलेगी।
बागेश्वर जिले के तहसील कपकोट के अंतर्गत अत्यधिक संवेदनशील ग्राम मल्लादेश के चार परिवारों के आवासीय भवनों को खतरा उत्पन्न होने के कारण पुनर्वास किए जाने के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने अनुमोदित कर दिया है। जिलाधिकारी बागेश्वर की ओर से 2018 की बरसात के दौरान इन परिवारों के मकान अतिवृष्टि और भूस्खलन के कारण अत्यधिक संवेदनशील की श्रेणी में आ गए थे। पुनर्वास नीति,2011 के अनुसार शासन को भेजे प्रस्ताव पर राज्य पुनर्वास समिति की बैठक में मुहर लग चुकी है।
चमोली जिले के तहसील थराली के आपदा प्रभावित अति संवेदनशील ग्राम फल्दिया गांव के 12 परिवारों को अन्यत्र सुरक्षित स्थान पर पुनर्वासित किए जाने के लिए 51 लाख की धनराशि के प्रस्ताव पर मुख्यमंत्री ने सहमति दी है। इसमें पुनर्वास नीति के तहत मानक मदों के अनुसार प्रति परिवार भवन निर्माण के लिए 4 लाख रुपए, गौसाला निर्माण के लिए 15 हजार तथा विस्थापन भत्ता 10 हजार रुपए की संस्तुति की गई है।
चमोली जिले के ही तहसील गैरसैंण के आपदाग्रस्त ग्राम सनेड लगा जिनगोडा के प्रभावित परिवार के पुनर्वास के प्रस्ताव को भी उचित पाया गया। राज्य आपदा पुनर्वासन समिति की बैठक में पहले ही इस पर अनुमोदन दिया गया है। मुख्यमंत्री ने भी इस प्रस्ताव को सहमति देते हुए प्रभावित परिवार को सुरक्षित स्थान पर विस्थापित करने की संस्तुति दी है।
उत्तरकाशी के तहसील डूंडा के अत्यंत संवेदनशील ग्राम अस्तल के 30 प्रभावित परिवारों को अन्यत्र सुरक्षित स्थान पर विस्थापित किए जाने के लिए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने 1 करोड़ 25 लाख 10 हजार की राशि के प्रस्ताव पर सहमति दी है। पुनर्वास नीति के तहत प्रति परिवार भवन निर्माण के लिए 4 लाख, गौशाला निर्माण के लिए 15 हजार और विस्थापन भत्ता 10 हजार रुपए दिया जाएगा।

*15 भूकंप सेंसर के लिए 45 लाख की मंजूरी*
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्य में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की के सहयोग से भूकंप पूर्व चेतावनी तंत्र के संचालन पर होने वाले व्यय के लिए 45 लाख जारी करने पर सहमति दी है। मुख्यमंत्री की सहमति के बाद आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के सचिव एस.ए. मुरूगेशन की ओर से इसका जीओ भी जारी कर दिया गया है।
उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के माध्यम से यह प्रस्ताव मुख्यमंत्री को भेजा गया था। राज्य में भूकंप पूर्व चेतावनी तंत्र के क्रियान्वयन के लिए भारतीय प्रौद्योगिक संस्थान रुड़की द्वारा 15 भूकंप सेंसर लगाए गए थे। जो वर्तमान में खराब हो गए हैं। इन्हें बदलने के लिए 45 लाख का प्रस्ताव शासन को भेजा गया था। इसमें यह साफ किया गया है कि इस धनराशि का गलत उपयोग होने पर निदेशक आईआईटी रुड़की का उत्तरदायित्व होगा।

RELATED ARTICLES

मोदी सरकार के बजट ने आम लोगों को निराश किया : महर्षि, सिर्फ चुनावी राज्यों को देखते हुए पेश किया गया आम बजट

देहरादून। वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि ने केंद्र सरकार के संसद में पेश बजट को बेहद निराशाजनक और...

राज्य के स्कूलों में कम होगा बस्ते का बोझः डॉ0 धन सिंह रावत, NEP-2020 के तहत सभी शिक्षा बोर्ड करें विचार

देहरादून, स्कूलों में बच्चों के भारी-भरकम बस्तों का बोझ कम करने के लिये राज्य में संचालित सभी शिक्षा बोर्ड के साथ विचार-विमार्श कर कोई...

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें, पंचायत भवनों के साथ छात्रावास का भी होगा क्षेत्र में...

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

मोदी सरकार के बजट ने आम लोगों को निराश किया : महर्षि, सिर्फ चुनावी राज्यों को देखते हुए पेश किया गया आम बजट

देहरादून। वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि ने केंद्र सरकार के संसद में पेश बजट को बेहद निराशाजनक और...

राज्य के स्कूलों में कम होगा बस्ते का बोझः डॉ0 धन सिंह रावत, NEP-2020 के तहत सभी शिक्षा बोर्ड करें विचार

देहरादून, स्कूलों में बच्चों के भारी-भरकम बस्तों का बोझ कम करने के लिये राज्य में संचालित सभी शिक्षा बोर्ड के साथ विचार-विमार्श कर कोई...

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें, पंचायत भवनों के साथ छात्रावास का भी होगा क्षेत्र में...

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से उत्तराखण्ड की झांकी मानसखण्ड के कलाकारों ने की भेंट, मुख्यमंत्री को महानिदेशक सूचना ने सौंपी झांकी को मिले प्रथम...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में गणतंत्र दिवस पर विभिन्न राज्यों की झांकियों में उत्तराखण्ड की “मानसखण्ड” झांकी...

RPI (A) उत्तराखंड की टीम ने राष्ट्रीय अध्यक्ष से की मुलाकात, 25 फरवरी को रुड़की में होगा केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले का कार्यक्रम

रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष सेठपाल सिंह, ज़िला अध्यक्ष अंकित कुमार, गढ़वाल मंडल सरवन कुमार और अन्य लोगों ने केंद्रीय मंत्री राम...

वक्फ बोर्ड की संपत्ति पर अवैध कब्जा करने वाले पूर्व सांसद पर केस दर्ज, पूर्व सांसद समेत अन्य 07 के खिलाफ नामजद मुकदमा हुआ...

यूपी के पूर्व सांसद अकबर अहमद डंपी सहित सात लोगों पर वक्फ बोर्ड की संपत्ति खुर्द-बुर्द और जाली दस्तवेजों से खरीद करने का आरोप...

उत्तराखंड पुलिस ने चलाया दो माह का महाअभियान, पुलिस की ताबड़तोड़ कार्यवाही से हत्थे चढ़े कई बदमाश

अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड द्वारा दिनांक 01.12.2022 से फरार वांछित / इनामी अपराधियों की गिरफ्तारी एवं एनडीपीएस एक्ट / गैंगस्टर एक्ट में अवैध...

उत्तराखंड विद्युत संविदा कर्मचारी संगठन (इंटक) का हुआ अधिवेशन, नियमितिकरण व समान वेतन की लडाई के साथ निजीकरण के विरोध में भी संगठन होगा...

उत्तराखंड विद्युत संविदा कर्मचारी संगठन (इंटक) का एक सम्मेलन पौड़ी जनपद के कोटद्वार में मिलन बैडिंग प्वाइंट में आयोजित किया गया जिसमें संगठन के...

एक और “फर्जी भर्ती सेंटर” का हरिद्वार पुलिस ने किया भंडाफोड़, DM हरिद्वार की फर्जी ईमेल ID तैयार कर, अभ्यर्थियों को ईमेल के माध्यम...

*एक और "फर्जी भर्ती सेंटर" का हरिद्वार पुलिस ने किया भंडाफोड़* *जैतपुर लक्सर में चलाए जा रहे भर्ती सेंटर के 04 सक्रिय सदस्य दबोचे* *बेरोजगार युवाओं...

शहर में चलने वाली सिटी बसों में लगेगा व्हीकल लोकेशन ट्रेकिंग डिवाइस, परिवहन विभाग के फैसले के विरोध में उतरी सिटी बस महासंघ

परिवहन विभाग के एक फैसले ने देहरादून शहर की सिटी बस सेवा को परेशानी में डालने का काम किया है। सिटी बस महासंघ के...