Monday, May 27, 2024
Latest:
लाइफ स्टाइल

डिसइंफेक्शन टनल बचा सकती है कोविड-19 से, रूसी राष्ट्रपति के लिए भी की गई यह व्यवस्था

डिसइंफेक्शन टनल बचा सकती है कोविड-19 से, रूसी राष्ट्रपति के लिए भी की गई यह व्यवस्था

नई दिल्ली। कोरोनावायरस से बचना है तो हर इंसान को फिजिकल डिस्टैंसिंग रखनी होगी। रूस में कोरोना का कहर जारी है, इस बीच वहां के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को कोरोना से बचाने के लिए एक ऐसे डिवाइज का निर्माण किया गया है, जिसकी मदद से राष्ट्रपति पुतिन से मिलने वाले लोग इस डिवाइस से होकर गुजरेंगे। इस डिवाइस का नाम डिसइंफेक्शन टनल रखा गया है। ये खास उपाय कोरोना वायरस से सुरक्षा के मद्देनजर किया गया है।

रूस के राष्ट्रपति के लिए खास डिवाइस तैयार
रूस के राष्ट्रपति के आधिकारिक निवास क्रेमलिन के प्रवक्ता ने बताया कि इस खास डिसइेंफक्शन टनल को रूसी कंपनी ने तैयार किया है। डिसइंफेक्शन सुरंग ऑटोमैटिक तरीके से काम करती है। सुरंग में जाने पर पराबैगनी किरणों का उत्सर्जन होता है। टनल में मुलाकातियों पर पहले कीटाणुनाशक से बचाव के लिए स्प्रे किया जाता है। फिर उसके शरीर के तापमान को जांचा जाता है। डिवाइस में अन्य तकनीक के साथ चेहरे की पहचान की तकनीक का भी इस्तेमाल किया गया है। अभी ये साफ नहीं है कि राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने इसका इस्तेमाल किया है या नहीं।

मुलाकातियों को गुजरना होगा डिसइंफेक्शन टनल से
राष्ट्रपति पुतिन मास्को से बाहर अपने स्थान पर सेल्फ आइसोलेशन में है। हालांकि 12 जून को रूस के सरकारी दिवस पर पुतिन सार्वजनिक कार्यक्रम में मास्क के बिना नजर आए थे। सुरक्षा के सभी उपाय करने के बावजूद उनके नजदीकी लोगों को कोरोना वायरस का संक्रमण हो चुका है। यहां तक कि प्रधानमंत्री के बाद उनके एक प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव भी संक्रमित मरीजों में रहे हैं। कोरोना वायरस महामारी के चलते रूस सबसे ज्यादा पीड़ित देशों में से एक है। अमेरिका, ब्राजील के बाद रूस संक्रमण के मामले में तीसरे नंबर पर है। यहां संक्रमण के साढ़े पांच लाख से ऊपर मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि मौत का आंकड़ा 7 हजार 660 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *