Tuesday, October 3, 2023
Home हेल्थ इस देश में सबसे पहले मिला था दलदली बुखार, जानें अब इसका...

इस देश में सबसे पहले मिला था दलदली बुखार, जानें अब इसका क्या नाम है

इस देश में सबसे पहले मिला था दलदली बुखार, जानें अब इसका क्या नाम है

नई दिल्ली। मलेरिया से हर साल लाखों लोग मरते हैं। दुनिया में फैली यह बिमारी मादा मच्छर के काटने से होती है। यह ऐसी बिमारी है जो परजीवी प्लास्मोडियम के कारण होती है। मलेरिया शब्द इटालियन भाषा शब्द ष्माला एरियाष् से बना है जिसका मतलब है श्बुरी हवाश्।

क्या आप जानते है कि मलेरिया का सबसे पुराना वर्णन चीन (2700 ईसा पूर्व) में मिलता है। मलेरिया को दलदली बुखार (डंतेी थ्मअमत) भी कहा जाता है। सन 1880 में मलेरिया का सबसे पहला अध्ययन चार्ल्स लुई अल्फोंस लैवेरिन वैज्ञानिक द्वारा किया गया था।

मलेरिया काफी गंभीर रोग के रूप में माना जाता है। इसके लक्षण हैं बुखार, कंपकंपी, पसीना आना, सिरदर्द, शरीर में दर्द, जी मचलना और उल्टी होना। कई बार बुखार पसीना आने से उतर जाता है परन्तु कुछ घंटों बाद फिर हो सकता है। परन्तु यह निर्भर करता है कि किस परजीवी के कारण मलेरिया हुआ है।

डायग्नोसिस

– मलेरिया का निदान ब्लड टेस्ट के द्वारा किया जाता है।

– रोगी के रक्त से स्लाइड बनाकर प्रशिक्षित डॉक्टर माइक्रोस्कोप के द्वारा प्लाज्मोडियम नामक पैरासाइट की जांच करते हैं।

– आजकल अत्याधुनिक तकनीक के द्वारा एंटीजेनरेपिड कार्ड टेस्ट से मलेरिया की डायग्नोसिस कुछ ही मिनटों में की जा सकती है।

बेहतर है बचाव

– मच्छर भगाने वाली क्रीम और स्प्रे का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

– मच्छरों को पनपने से रोकें। इसके लिए अपने आसपास सफाई का ध्यान रखें।

– अगर जल निकास संभव न हो तो कीटनाशक डालें।

– मलेरिया बहुल इलाकों में जाने वाले व्यक्तियों को सलाह दी जाती है कि वे कुछ सप्ताह या कुछ महीनों तक डॉक्टर की सलाह से मलेरिया से बचाव के लिए कुछ दवाएं ले सकते हैं।

– बारिश के दिनों में मच्छरों से बचने के लिए पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पहनें। जैसे पूरी बाजू का कुर्ता और पायजामा आदि।

– मच्छर ठहरे हुए पानी में पनपते हैं। इसलिए बारिश के पहले ही नालियों की सफाई करवाएं और गड्ढे आदि भरवाएं।

– इस बीमारी से बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया जाना जरूरी है। यह कार्य सरकारी तंत्र के अलावा डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ अच्छी तरह से कर सकता है।

– मलेरिया से बचाव का कोई टीका (वैक्सीन) अभी तक उपलब्ध नहीं है, पर इस पर अनुसंधान जारी है।

मलेरिया की सबसे कारगार दवा
समुचित इलाज न करने या लापरवाही बरतने पर मलेरिया जानलेवा हो सकता है। देश में हर साल हजारों लोग मलेरिया के संक्रमण से मर रहे हैं। इसलिए लक्षणों के प्रकट होते ही रोगी को शीघ्र ही डॉक्टर के पास ले जाकर जांच करवाएं। शीघ्र ही डायग्नोसिस और इलाज से मलेरिया से होने वाली जटिलताओं से बचा जा सकता है। मलेरिया में कई तरह की दवाओं का उपयोग होता है।

सबसे कारगर और डब्लूएचओ द्वारा मान्यता प्राप्त फर्स्ट लाइन दवा है- आर्टीमीसाइन कॉम्बिनेशन थेरेपी। यह दो दवाओं का मिश्रण है जो न केवल मलेरिया के रोगी को ठीक करती है बल्कि मलेरिया के रिलेप्स होने और इसे दूसरे व्यक्ति में फैलने से भी रोकती है। इसके अलावा क्लोरोक्वीन और सल्फा ड्रग आदि का भी इस्तेमाल होता है। बुखार उतारने के लिए पीड़ित व्यक्ति को पैरासिटामोल दें और शरीर में पानी की कमी को रोकने के लिए ज्यादा से ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ दें।

RELATED ARTICLES

स्वास्थ्य सचिव डॉ आर राजेश कुमार ने परखी पौड़ी जनपद में स्वास्थ्य सुविधाओं की जमीनी हकीकत, खामियों पर लगाई अधिकारियों को फटकार

*-पौड़ी जिला चिकित्सालय में स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार के निर्देश, पीपीपी मोड पर संचालित है अस्पताल* *-सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पाबौ व पैठाणी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र...

डेंगू नियंत्रण में कोताही की तो खैर नहीं: डा. आर राजेश कुमार, स्वास्थ्य सचिव डा. आर. राजेश कुमार ने किया हल्द्वानी में अस्पतालों का...

हल्द्वानी। डेंगू नियंत्रण अभियान की हकीकत जानने स्वास्थ्य सचिव डॉक्टर आर राजेश कुमार आजकल प्रदेश के दौरे पर हैं। देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी जनपद के...

स्वास्थ्य सचिव डॉ आर राजेश कुमार का कोटद्वार दौरा, बेस अस्पताल में डेंगू को लेकर फैली अव्यवस्थाओं पर भड़के स्वास्थ्य सचिव ने अधिकारियों को...

कोटद्वार। प्रदेश में डेंगू की रोकथाम को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देशों के क्रम में स्वास्थ्य सचिव लगातार जनपदवार डेंगू प्रभावित इलाकों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का पिथौरागढ़ दौरा, पीएम मोदी के प्रस्तावित दौरे से पहले करेंगे तैयारी की समीक्षा

देहरादून। प्रदेश के कृषि एवं कृषक कल्याण, सैनिक कल्याण और ग्राम्य विकास मंत्री गणेश जोशी दिनाक 03 अक्टूबर (मंगलवार) को 11 बजे पिथौरागढ़ पहुंचेंगे,...

SSP देहरादून की सटीक रणनीति से व्हाइट कॉलर क्रिमिनल्स पर दून पुलिस का बडा एक्शन, दून में लोगो को बिल्डर बनकर फ्लैट देने के...

*लोगों से अलग-अलग प्रोजेक्टों में निवेश कराने के नाम पर निवेशकों व बैंकों के करोड़ो रू0 हडपने वाले गिरोह को दून पुलिस ने पंजाब...

सूचना निदेशालय में राष्ट्रपिता और पूर्व प्रधानमंत्री को किया गया नमन, जयंती के मौके पर श्रद्धासुमन किए गए अर्पित

महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर रिंग रोड, देहरादून स्थित सूचना...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शहीद स्थल रामपुर तिराहा में राज्य आन्दोलनकारी शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित कर दी श्रद्धांजलि, आंदोलनकारियों की आशाओं और आकांक्षाओं...

*सभी आन्दोलनकारियों को पूरा मान-सम्मान और अधिकार देना राज्य सरकार का संकल्प* *शहीद स्थल, रामपुर तिराहा में उत्तराखंड के स्थानीय उत्पादों की होगी उपलब्धता* मुख्यमंत्री पुष्कर...

पाकिस्तान के 107 जायरीनों को वक़्फ़ बोर्ड उत्तराखंड ने दिया रिटर्न गिफ़्ट, पाकिस्तान के मंदिरों में मौजूद पुजारियों को सह सम्मान भेंट करने के...

पीरान कलियर शरीफ़ । उत्तराखंड वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष शादाब शम्स ने आज साबिर पाक के 755 वे उर्स में आये पाकिस्तान के 107...

मेगा रक्तदान शिविर में राज्यपाल द्वारा सम्मानित हुए एडवोकेट ललित जोशी, सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज देहरादून शिक्षा के साथ सामाजिक कार्यों में...

देवभूमि विकास संस्थान देहरादून द्वारा अमरीक हॉल रेसकोर्स देहरादून में मेगा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। रक्तदान शिविर में प्रदेश के राज्यपाल लेफ्टिनेंट...

PTCUL MD ने किया कर्मचारियों के साथ श्रमदान, सभी से प्रत्येक दिन एक घण्टे श्रमदान करने का आह्वाहन

प्रधानमंत्री भारत सरकार के आह्वाहन पर प्रातः 10ः00 बजे से प्रातः 11ः00 बजे तक पिटकुल में ‘‘श्रमदान के अन्तर्गत स्वच्छता कार्यक्रम’’ का आयोजन किया...

स्वच्छता ही सेवा के लिए देहरादून को प्रथम पुरस्कार, शहरी विकास विभाग में नवनियुक्त कर अधीक्षकों को सौंपे गए नियुक्ति पत्र

01 अक्टूबर, 2023 को मुख्य सेवक सदन मुख्यमंत्री आवास परिसर में एक पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया जिसमें मुख्यमंत्री द्वारा स्वच्छता ही सेवा...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहुंचे Ex CM बी सी खंडूरी के आवास, जन्मदिन के मौके पर दी बधाई

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूरी को जन्मदिवस की बधाई देते हुए उनके स्वस्थ जीवन और...

Big Breaking: महिला आरक्षण बिल को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दी मंजूरी, नारी शक्ति वंदन विधेयक 20 सितंबर को लोकसभा और 21 सितंबर को...

किसी भी विधेयक के संसद के दोनों सदनों से पारित होने के बाद उसे राष्ट्रपति की मंजूरी के लिए भेजा जाता है ताकि वो...