Thursday, February 2, 2023
Home उत्तराखंड Exclusive- उत्तराखंड में 600 करोड़ का चावल घोटाला

Exclusive- उत्तराखंड में 600 करोड़ का चावल घोटाला

उत्तराखंड: चावल के नाम पर खेला गया बड़ा खेल, 600 करोड़ के घोटाले में सामने आई चौंकाने वाली बातें। स्पेशल ऑडिट में सामने आया प्रदेश के सबसे बड़े चावल घोटाले का सच। वहीं अब चावल घोटाले में त्रिवेंद्र रावत सरकार की तरफ़ से बड़े आदेश की उम्मीद की जा रही है—


उत्तराखंड में करीब 600 करोड़ के चावल घोटाले में हर स्तर पर घपला होने की पुष्टि अब ऑडिट की विशेष जांच रिपोर्ट से भी हो गई है। सचिव वित्त अमित सिंह नेगी ने 2015-16 और 2016-17 की यह जांच रिपोर्ट प्रमुख सचिव खाद्य को भेज दी है। रिपोर्ट से जाहिर है कि धान खरीद से लेकर मिलिंग, पैकिंग, गोदामों तक पहुंचाने के दौरान हर स्तर पर गड़बड़ी हुई। पीडीएस तक चावल पहुंचाने वाले स्टेट पूल तक को नहीं बख्शा गया।

प्रदेश में चावल घोटाला 2017 में सामने आया था। इसकी जांच एसआईटी ने भी की थी और करीब छह सौ करोड़ रुपये के घोटाले का अनुमान जताया था। गरीब के कोटे के चावल में हेरा फेरी से लेकर अन्य कई मामले सामने आए थे। इसमें कुछ अधिकारियों को निलंबित भी किया गया था। अब स्पेशल ऑडिट में भी यह सामने आया है कि इस घोटाले में हर स्तर पर खेल खेला गया। नोटबंदी का भी फायदा लिया गया और बोरों तक में करोड़ों के रुपये बनाए गए। रिपोर्ट के मुताबिक खाद्य सुरक्षा में ही सरकार को इससे करीब 18 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। बोरों की प्रतिपूर्ति में ही 43 करोड़ रुपये का अधिक भुगतान दिखाया गया। यह तब है जबकि स्पेशल ऑडिट टीम संबंधित पक्षों की ओर से सहयोग न करने के कारण पूरी जांच नहीं कर पाई।

ऑडिट रिपोर्ट के मुख्य बिंदु
1. राज्य पोषित योजना के तहत अनुबंध किए बिना ही मिलरों से करीब 250 करोड़ रुपये का चावल खरीदा गया।
2. नोडल एजेंसी मंडी समितियों ने मंडी की बजाय बाहर से धान खरीद में सहयोग किया। इससे किसानों को एमएसपी नहीं मिला। मंडियों ने न तो आढ़तियों के खाते जांचे और न ही खरीदे गए धान का निरीक्षण किया।
3. कच्चा आढ़तियों से धान से चावल बनाने की प्रक्रिया में नियमों का पालन नहीं किया गया।
4. खरीफ सत्र 2015-16 और 2016-17 में राज्य सहकारी विपणन संघ ने जितना धान खरीदा उससे ज्यादा चावल गोदामों में एकत्र किया। मिलरों से 1.18 करोड़ रुपये का चावल लेना टाला गया और 30.38 लाख रुपये का अधिक भुगतान किया गया।
5. खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के केंद्रों ने दो लाख रुपये से अधिक मूल्य का चेक जारी किया, सत्यपान किए बिना खरीद की और कांटे पर तौल की मात्रा से अधिक की खरीद की।
6. स्टेट पूल के गोदामों में भी कई गड़बड़ियां पकड़ी गईं।
7. राष्ट्रीय खाघ सुरक्षा के तहत 18.27 करोड़ रुपये का नुकसान पहुंचाया गया।
8. आढ़तियों और मिलरों ने नए बोरों की प्रतिपूर्ति में 43.38 करोड़ रुपये का अधिक भुगतान दिखाया।
9. सीएमआर के चावल के ढुलान में करीब 30 लाख रुपये का अधिक भुगतान, राज्य खाद्य योजना के तहत 40 लाख का अधिक भुगतान हुआ।
10. सुखाई कुटाई के मद में 8.63 लाख का अधिक भुगतान, मंडी शुल्क और वेट पर भी स्थिति स्पष्ट नहीं। मूवमेंट चालान और बिलों में भी गंभीर खामियां मिलीं।
10. कच्चा आढ़तियों की खरीद में करीब 30 लाख रुपयेे का अंतर सामने आया है।
11. राज्य सरकार का साफ आदेश था कि धान की खरीद मंडियों में कच्चा आढ़तियों के जरिए होगी।

जांच के लिए दस्तावेज भी पूरे नहीं मिले
शासन ने किसानों को किए गए भुगतान की जांच के लिए अलग से कमेटी बनाई थी। इस कमेटी को 2015-16 में 350 में 304 और 2016-17 में 400 में से 361 आढ़तियों ने भी साक्षय दिए। 1781 करोड़ रुपयेे का धान खरीदना बताया गया। साक्ष्य न होने के कारण करीब 217 करोड़ रुपये की धान खरीद की पुष्टि नहीं हुई।

नोटबंदी में भी खूब उठाया गया फायदा
रिपोर्ट में यह भी खुलकर सामने आया कि नोटबंदी के बाद करीब 408.45 करोड़ रुपये का नगद भुगतान किया गया। इसमें से 217 करोड़ रुपये के साक्ष्य नहीं मिले। कुल भुगतान का 65 प्रतिशत बैंक के जरिये, 12 प्रतिशत नकद भुगतान नोटबंदी के दौरान और बाकी का 23 प्रतिशत नकद भुगतान नोटबंदी के अलावा किया।

RELATED ARTICLES

मोदी सरकार के बजट ने आम लोगों को निराश किया : महर्षि, सिर्फ चुनावी राज्यों को देखते हुए पेश किया गया आम बजट

देहरादून। वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि ने केंद्र सरकार के संसद में पेश बजट को बेहद निराशाजनक और...

राज्य के स्कूलों में कम होगा बस्ते का बोझः डॉ0 धन सिंह रावत, NEP-2020 के तहत सभी शिक्षा बोर्ड करें विचार

देहरादून, स्कूलों में बच्चों के भारी-भरकम बस्तों का बोझ कम करने के लिये राज्य में संचालित सभी शिक्षा बोर्ड के साथ विचार-विमार्श कर कोई...

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें, पंचायत भवनों के साथ छात्रावास का भी होगा क्षेत्र में...

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

मोदी सरकार के बजट ने आम लोगों को निराश किया : महर्षि, सिर्फ चुनावी राज्यों को देखते हुए पेश किया गया आम बजट

देहरादून। वरिष्ठ कांग्रेस नेता तथा पार्टी के प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव महर्षि ने केंद्र सरकार के संसद में पेश बजट को बेहद निराशाजनक और...

राज्य के स्कूलों में कम होगा बस्ते का बोझः डॉ0 धन सिंह रावत, NEP-2020 के तहत सभी शिक्षा बोर्ड करें विचार

देहरादून, स्कूलों में बच्चों के भारी-भरकम बस्तों का बोझ कम करने के लिये राज्य में संचालित सभी शिक्षा बोर्ड के साथ विचार-विमार्श कर कोई...

महाराज ने हास्पिटल सहित अपने क्षेत्र को दी 100 करोड़ 70 लाख की योजनायें, पंचायत भवनों के साथ छात्रावास का भी होगा क्षेत्र में...

एकेश्वर (पौडी)। प्रदेश के पंचायती राज, पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, ग्रामीण निर्माण, जलागम, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने अपने विधानसभा क्षेत्र एकेश्वर...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से उत्तराखण्ड की झांकी मानसखण्ड के कलाकारों ने की भेंट, मुख्यमंत्री को महानिदेशक सूचना ने सौंपी झांकी को मिले प्रथम...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुख्यमंत्री आवास स्थित मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में गणतंत्र दिवस पर विभिन्न राज्यों की झांकियों में उत्तराखण्ड की “मानसखण्ड” झांकी...

RPI (A) उत्तराखंड की टीम ने राष्ट्रीय अध्यक्ष से की मुलाकात, 25 फरवरी को रुड़की में होगा केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले का कार्यक्रम

रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष सेठपाल सिंह, ज़िला अध्यक्ष अंकित कुमार, गढ़वाल मंडल सरवन कुमार और अन्य लोगों ने केंद्रीय मंत्री राम...

वक्फ बोर्ड की संपत्ति पर अवैध कब्जा करने वाले पूर्व सांसद पर केस दर्ज, पूर्व सांसद समेत अन्य 07 के खिलाफ नामजद मुकदमा हुआ...

यूपी के पूर्व सांसद अकबर अहमद डंपी सहित सात लोगों पर वक्फ बोर्ड की संपत्ति खुर्द-बुर्द और जाली दस्तवेजों से खरीद करने का आरोप...

उत्तराखंड पुलिस ने चलाया दो माह का महाअभियान, पुलिस की ताबड़तोड़ कार्यवाही से हत्थे चढ़े कई बदमाश

अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड द्वारा दिनांक 01.12.2022 से फरार वांछित / इनामी अपराधियों की गिरफ्तारी एवं एनडीपीएस एक्ट / गैंगस्टर एक्ट में अवैध...

उत्तराखंड विद्युत संविदा कर्मचारी संगठन (इंटक) का हुआ अधिवेशन, नियमितिकरण व समान वेतन की लडाई के साथ निजीकरण के विरोध में भी संगठन होगा...

उत्तराखंड विद्युत संविदा कर्मचारी संगठन (इंटक) का एक सम्मेलन पौड़ी जनपद के कोटद्वार में मिलन बैडिंग प्वाइंट में आयोजित किया गया जिसमें संगठन के...

एक और “फर्जी भर्ती सेंटर” का हरिद्वार पुलिस ने किया भंडाफोड़, DM हरिद्वार की फर्जी ईमेल ID तैयार कर, अभ्यर्थियों को ईमेल के माध्यम...

*एक और "फर्जी भर्ती सेंटर" का हरिद्वार पुलिस ने किया भंडाफोड़* *जैतपुर लक्सर में चलाए जा रहे भर्ती सेंटर के 04 सक्रिय सदस्य दबोचे* *बेरोजगार युवाओं...

शहर में चलने वाली सिटी बसों में लगेगा व्हीकल लोकेशन ट्रेकिंग डिवाइस, परिवहन विभाग के फैसले के विरोध में उतरी सिटी बस महासंघ

परिवहन विभाग के एक फैसले ने देहरादून शहर की सिटी बस सेवा को परेशानी में डालने का काम किया है। सिटी बस महासंघ के...