Thursday, November 30, 2023
Home उत्तराखंड त्रिवेंद्र कैबिनेट के फ़ैसले से बदलेगी तस्वीर प्रधानमंत्री आवास योजना में...

त्रिवेंद्र कैबिनेट के फ़ैसले से बदलेगी तस्वीर प्रधानमंत्री आवास योजना में सरकार ने किया बड़ा बदलाव

उत्तराखंड सरकार के इस फैसले के बाद राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजना पकड़ेगी गति, 40 हजार व्यक्तियों को आवास देने का है लक्ष्य

देहरादून । प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कमजोर आय वर्ग (ईडब्लूएस) को आवास मुहैया कराने की मुहिम अब राज्य में गति पकड़ेगी। इस कड़ी में कैबिनेट ने उत्तराखंड आवास नीति (संशोधन) नियमावली-2020 को मंजूरी दे दी। इसमें बिल्डरों को राहत देने के साथ ही पेच भी कसे गए हैं। साथ ही आवास से जुड़े विवादों के निवारण के लिए कमेटी भी बनाई जाएगी। इसके अलावा लाभार्थी न मिलने की दशा में प्राधिकरणों से बाहर के क्षेत्रों से भी चयन की छूट दी गई है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत राज्य में 40 हजार व्यक्तियों को आवास देने का लक्ष्य है, लेकिन अभी तक केवल 14 हजार आवास ही स्वीकृत हो पाए हैं। इस बीच कोरोना संकट, कृषि भूमि का भूउपयोग परिवर्तित न होने समेत दूसरे कारणों से यह योजना गति नहीं पकड़ पा रही थी। इसी के दृष्टिगत आवास नीति की नियमावली में संशोधन प्रस्ताव पर कैबिनेट ने मुहर लगाई है। नियमावली में साफ किया गया है कि निजी भूमि में बनने वाली ईडब्लूएस आवासीय परियोजनाओं में निजी बिल्डरों को छूट दी गई है कि वे ईडब्लूएस आवासों के निर्माण को तय भूमि से इतर 15 फीसद विक्रय योग्य भूमि को बतौर परफामेंस गांरटी बंधक रख सकेंगे। लाभार्थियों को कब्जा प्रदान किए जाने तक इसे बंधक रखा जाएगा और इस पर आने वाला व्यय बिल्डर वहन करेंगे। अलबत्ता, सरकारी भूमि पर बनने वाली ऐसी परियोजनाओं में ईडब्लूएस आवासों की लागत की 10 फीसद राशि बैंक गारंटी के रूप में प्राधिकरण, आवास विकास परिषद अथवा नगर निकाय के पक्ष में जमा करानी अनिवार्य होगी। पूर्व में निजी व सरकारी भूमि की परियोजनाओं के मामले में 10 फीसद बैंक गारंटी अनिवार्य थी।

नियमावली के अनुसार बंधक भूमि को ईडब्लूएस आवास के लाभार्थियों के पक्ष में कब्जा, रजिस्ट्री आदि के प्रमाणित साक्ष्य उपलब्ध कराने के बाद एक माह के भीतर बंधकमुक्त किया जाएगा। सरकारी भूमि के मामलों में कार्यपूर्ति प्रमाणपत्र प्राप्त होने पर बैंक गारंटी की राशि लौटाई जाएगी। यह भी प्रविधान किया गया है कि यदि किसी निरस्त योजना में निजी बिल्डरों ने सरकारी भूमि पर निर्माण कराया है, तो इसमें उसमें कोई सरकारी अनुदान लिया है तो रेरा अधिनियम की धाराओं के तहत उससे वसूली की जाएगी। साथ ही जो निर्माण हुए होंगे, उन्हें जब्त कर लिया जाएगा।

नियमावली के मुताबिक निजी बिल्डरों द्वारा आवासों का निर्माण और विक्रय स्वयं किया जाएगा। आवास आवंटन के लिए लाभार्थियों का चयन शहरी विकास विभाग से चिह्नित लाभार्थियों की प्रमाणित सूची, जिला विकास प्राधिकरण, स्थानीय विकास प्राधिकरण, आवास विकास परिषद व नगर निकाय के सहयोग व निगरानी में पीएम आवास योजना के प्रविधानों के तहत किया जाएगा। यदि किसी कारणवश प्राधिकरणों के क्षेत्राधिकार में लाभार्थी नहीं मिलते हैं तो प्राधिकरण के क्षेत्र से बाहर से भी लाभार्थी चयनित किए जा सकते हैं।


शिकायतों के निराकरण को कमेटी

आवासीय योजनाओं के अनुश्रवण व क्रियान्वयन में आने वाली कठिनाइयों, बिल्डरों की समस्याओं और लाभार्थियों की शिकायतों के निराकरण के लिए जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण व स्थानीय विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष की अध्यक्षता में समिति गठित की जाएगी। इसमें बिल्डर अथवा उसका प्रतिनिधि, संबंधित प्राधिकरण का प्रतिनिधि, तीन आवंटी व क्रेता सदस्य होंगे। इसी तरह आवास विकास परिषद में परिषद के अध्यक्ष और नगर निकायों में निदेशक शहरी विकास अथवा उसके नामित अधिकारी की अध्यक्षता में कमेटियां गठित होंगी।

एफएआर में भी दी गई राहत

नियमावली में गु्रप हाउसिंग के तहत एफएआर (फ्लोर एरिया रेशियो) में भी राहत दी गई है। पूर्व में एफएआर का 35 फीसद ईडब्लूएस व 10 फीसद एलआइजी (भूतल व तीन तल) भवन निर्माण की अनिवार्यता थी। शेष एफएआर में एलएमआइजी, एमआइजी व एचआइजी भवन बनाए जा सकते थे। अब नए प्रविधान के तहत एफएआर के 35 फीसद में ईडब्लूएस और शेष में अन्य भवन बनाए जा सकते हैं। ईडब्लूएस में आवास की लागत की वर्तमान दर छह लाख रुपये प्रति आवास रखी गई है।

अनुदान की किस्तें भी तय

पीएम आवास योजना के तहत ईडब्लूएस आवास के लिए लाभार्थी को केंद्र सरकार से डेढ़ लाख और राज्य सरकार से एक लाख रुपये का अनुदान मिलेगा। केंद्र सरकार से अनुदान राशि 40, 40 व 20 फीसद के हिसाब से तीन किस्तों में दी जाएगी, राज्य का अनुदान 50-50 फीसद के हिसाब से दो किस्तों में मिलेगा।

RELATED ARTICLES

मुख्यमंत्री आवास में हर्ष पर्व के रूप में हर्षोल्लास से मनाई गयी इगास, मुख्यमंत्री ने सिल्क्यारा सुरंग में फसे श्रमिकों के परिजनों को मुख्यमंत्री...

*मजदूरों के परिजनों ने मुख्यमंत्री का जताया आभार* *सांस्कृतिक कार्यक्रम में राज्य की लोक संस्कृति से रूबरू हुये श्रमिकों के परिजन* *सांस्कृतिक नृत्य में परिजनों ने...

प्रधानमंत्री मोदी ने फोन कर दी मुख्यमंत्री धामी को बधाई, प्रधानमंत्री ने श्रमिकों को सुरंग से बाहर निकाले जाने के बाद की गई व्यवस्थाओं...

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिलकयारा में 41 के 41 श्रमिकों को सकुशल बाहर निकाले जाने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को फोन कर...

रुद्रपुर में निर्माणाधीन वेलोड्रम में विशेषज्ञ की नियुक्ति की जाएगी-रेखा आर्या, खेल मंत्री ने 15 दिसम्बर तक अधिकारियों को खेल विभाग से संबंधित कार्यों...

*देहरादून*: खेल एवं युवा कल्याण मंत्री रेखा आर्या ने कैम्प कार्यालय देहरादून में खेल विभाग के प्रमुख सचिव व निदेशक के साथ महत्वपूर्ण कार्यों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

मुख्यमंत्री आवास में हर्ष पर्व के रूप में हर्षोल्लास से मनाई गयी इगास, मुख्यमंत्री ने सिल्क्यारा सुरंग में फसे श्रमिकों के परिजनों को मुख्यमंत्री...

*मजदूरों के परिजनों ने मुख्यमंत्री का जताया आभार* *सांस्कृतिक कार्यक्रम में राज्य की लोक संस्कृति से रूबरू हुये श्रमिकों के परिजन* *सांस्कृतिक नृत्य में परिजनों ने...

प्रधानमंत्री मोदी ने फोन कर दी मुख्यमंत्री धामी को बधाई, प्रधानमंत्री ने श्रमिकों को सुरंग से बाहर निकाले जाने के बाद की गई व्यवस्थाओं...

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिलकयारा में 41 के 41 श्रमिकों को सकुशल बाहर निकाले जाने पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को फोन कर...

रुद्रपुर में निर्माणाधीन वेलोड्रम में विशेषज्ञ की नियुक्ति की जाएगी-रेखा आर्या, खेल मंत्री ने 15 दिसम्बर तक अधिकारियों को खेल विभाग से संबंधित कार्यों...

*देहरादून*: खेल एवं युवा कल्याण मंत्री रेखा आर्या ने कैम्प कार्यालय देहरादून में खेल विभाग के प्रमुख सचिव व निदेशक के साथ महत्वपूर्ण कार्यों...

Alert: चीन के चलते एकबार फिर से देश में हुआ अलर्ट जारी, उत्तराखंड सरकार ने अलर्ट के साथ जारी की गाइडलाइन

देहरादून: चीन में बच्चों में फैल रहे निमोनिया और इन्फ्लूएंजा फ्लू बीमारी के बाद अलर्ट जारी स्वास्थ्य सचिव डॉ आर राजेश कुमार ने जारी किए...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सिलक्यारा, उत्तरकाशी में टनल रेस्क्यू ऑपरेशन का लिया जायज़ा, बाबा बौखनाग के मंदिर पर पूजा अर्चना कर सभी श्रमिकों...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सिलक्यारा, उत्तरकाशी में सिलक्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन का जायज़ा लिया है। उन्होंने टनल के प्रवेश द्वार पर स्थित बाबा...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहुंचे मातली कैम्प कार्यालय, सिलक्यारा में तैनात अधिकारियों से लिया रेस्क्यू ऑपरेशन का अपडेट

उत्तरकाशी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सिलक्यारा रेस्क्यू ऑपरेशन की निगरानी के मद्देनजर मातली स्थित अस्थायी कैंप कार्यालय पहुंचे। उन्होंने देर शाम सिलक्यारा में तैनात...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रमुख सचिव डॉ.पीके मिश्रा पहुंचे सिलक्यारा, सुरंग में चल रहे राहत और बचाव कार्य का किया निरीक्षण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रमुख सचिव डॉ.पीके मिश्रा एवं सचिव, गृह मंत्रालय, भारत सरकार अजय भल्ला ने सिलक्यारा, उत्तरकाशी में टनल रेस्क्यू ऑपरेशन का...

उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी का बीजेपी सरकार पर बड़ा आरोप, खनन का काम अब पूरे तरीके से निजी हाथों में सौंपने का आरोप

देहरादून: उपनेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी की पत्रकार वार्ता राज्य आंदोलनकारियों के मुद्दे को उठाने का किया काम बीजेपी सरकार पर लगाया युवाओं की नौकरी बेचने का...

मातली में बनाया गया अस्थाई सीएम कैम्प कार्यालय, उत्तरकाशी, सिलक्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन के मद्देनजर उठाया गया कदम

सिलक्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन के मद्देनजर मातली में अस्थाई रूप से मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय बनाया गया है। रेस्क्यू ऑपरेशन के दौरान शासकीय कार्य भी...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल (रिटा.) वीके सिंह ने सिलक्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन का लिया जायज़ा, मुख्यमंत्री ने टनल के...

*मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय राज्य मंत्री ने स्वयं जाकर, टनल में चल रहे राहत एवं बचाव कार्यों के संबंध में ली जानकारी।* *टनल में स्थापित ऑडियो...