Saturday, January 28, 2023
Home उत्तराखंड त्रिवेंद्र कैबिनेट के फ़ैसले से बदलेगी तस्वीर प्रधानमंत्री आवास योजना में...

त्रिवेंद्र कैबिनेट के फ़ैसले से बदलेगी तस्वीर प्रधानमंत्री आवास योजना में सरकार ने किया बड़ा बदलाव

उत्तराखंड सरकार के इस फैसले के बाद राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजना पकड़ेगी गति, 40 हजार व्यक्तियों को आवास देने का है लक्ष्य

देहरादून । प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत कमजोर आय वर्ग (ईडब्लूएस) को आवास मुहैया कराने की मुहिम अब राज्य में गति पकड़ेगी। इस कड़ी में कैबिनेट ने उत्तराखंड आवास नीति (संशोधन) नियमावली-2020 को मंजूरी दे दी। इसमें बिल्डरों को राहत देने के साथ ही पेच भी कसे गए हैं। साथ ही आवास से जुड़े विवादों के निवारण के लिए कमेटी भी बनाई जाएगी। इसके अलावा लाभार्थी न मिलने की दशा में प्राधिकरणों से बाहर के क्षेत्रों से भी चयन की छूट दी गई है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत राज्य में 40 हजार व्यक्तियों को आवास देने का लक्ष्य है, लेकिन अभी तक केवल 14 हजार आवास ही स्वीकृत हो पाए हैं। इस बीच कोरोना संकट, कृषि भूमि का भूउपयोग परिवर्तित न होने समेत दूसरे कारणों से यह योजना गति नहीं पकड़ पा रही थी। इसी के दृष्टिगत आवास नीति की नियमावली में संशोधन प्रस्ताव पर कैबिनेट ने मुहर लगाई है। नियमावली में साफ किया गया है कि निजी भूमि में बनने वाली ईडब्लूएस आवासीय परियोजनाओं में निजी बिल्डरों को छूट दी गई है कि वे ईडब्लूएस आवासों के निर्माण को तय भूमि से इतर 15 फीसद विक्रय योग्य भूमि को बतौर परफामेंस गांरटी बंधक रख सकेंगे। लाभार्थियों को कब्जा प्रदान किए जाने तक इसे बंधक रखा जाएगा और इस पर आने वाला व्यय बिल्डर वहन करेंगे। अलबत्ता, सरकारी भूमि पर बनने वाली ऐसी परियोजनाओं में ईडब्लूएस आवासों की लागत की 10 फीसद राशि बैंक गारंटी के रूप में प्राधिकरण, आवास विकास परिषद अथवा नगर निकाय के पक्ष में जमा करानी अनिवार्य होगी। पूर्व में निजी व सरकारी भूमि की परियोजनाओं के मामले में 10 फीसद बैंक गारंटी अनिवार्य थी।

नियमावली के अनुसार बंधक भूमि को ईडब्लूएस आवास के लाभार्थियों के पक्ष में कब्जा, रजिस्ट्री आदि के प्रमाणित साक्ष्य उपलब्ध कराने के बाद एक माह के भीतर बंधकमुक्त किया जाएगा। सरकारी भूमि के मामलों में कार्यपूर्ति प्रमाणपत्र प्राप्त होने पर बैंक गारंटी की राशि लौटाई जाएगी। यह भी प्रविधान किया गया है कि यदि किसी निरस्त योजना में निजी बिल्डरों ने सरकारी भूमि पर निर्माण कराया है, तो इसमें उसमें कोई सरकारी अनुदान लिया है तो रेरा अधिनियम की धाराओं के तहत उससे वसूली की जाएगी। साथ ही जो निर्माण हुए होंगे, उन्हें जब्त कर लिया जाएगा।

नियमावली के मुताबिक निजी बिल्डरों द्वारा आवासों का निर्माण और विक्रय स्वयं किया जाएगा। आवास आवंटन के लिए लाभार्थियों का चयन शहरी विकास विभाग से चिह्नित लाभार्थियों की प्रमाणित सूची, जिला विकास प्राधिकरण, स्थानीय विकास प्राधिकरण, आवास विकास परिषद व नगर निकाय के सहयोग व निगरानी में पीएम आवास योजना के प्रविधानों के तहत किया जाएगा। यदि किसी कारणवश प्राधिकरणों के क्षेत्राधिकार में लाभार्थी नहीं मिलते हैं तो प्राधिकरण के क्षेत्र से बाहर से भी लाभार्थी चयनित किए जा सकते हैं।


शिकायतों के निराकरण को कमेटी

आवासीय योजनाओं के अनुश्रवण व क्रियान्वयन में आने वाली कठिनाइयों, बिल्डरों की समस्याओं और लाभार्थियों की शिकायतों के निराकरण के लिए जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण व स्थानीय विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष की अध्यक्षता में समिति गठित की जाएगी। इसमें बिल्डर अथवा उसका प्रतिनिधि, संबंधित प्राधिकरण का प्रतिनिधि, तीन आवंटी व क्रेता सदस्य होंगे। इसी तरह आवास विकास परिषद में परिषद के अध्यक्ष और नगर निकायों में निदेशक शहरी विकास अथवा उसके नामित अधिकारी की अध्यक्षता में कमेटियां गठित होंगी।

एफएआर में भी दी गई राहत

नियमावली में गु्रप हाउसिंग के तहत एफएआर (फ्लोर एरिया रेशियो) में भी राहत दी गई है। पूर्व में एफएआर का 35 फीसद ईडब्लूएस व 10 फीसद एलआइजी (भूतल व तीन तल) भवन निर्माण की अनिवार्यता थी। शेष एफएआर में एलएमआइजी, एमआइजी व एचआइजी भवन बनाए जा सकते थे। अब नए प्रविधान के तहत एफएआर के 35 फीसद में ईडब्लूएस और शेष में अन्य भवन बनाए जा सकते हैं। ईडब्लूएस में आवास की लागत की वर्तमान दर छह लाख रुपये प्रति आवास रखी गई है।

अनुदान की किस्तें भी तय

पीएम आवास योजना के तहत ईडब्लूएस आवास के लिए लाभार्थी को केंद्र सरकार से डेढ़ लाख और राज्य सरकार से एक लाख रुपये का अनुदान मिलेगा। केंद्र सरकार से अनुदान राशि 40, 40 व 20 फीसद के हिसाब से तीन किस्तों में दी जाएगी, राज्य का अनुदान 50-50 फीसद के हिसाब से दो किस्तों में मिलेगा।

RELATED ARTICLES

नाबार्ड के अधिकारियों ने वित्तमंत्री प्रेमचंद अग्रवाल से की मुलाकात, राज्य की अनुसूचित जनजाति के उत्थान के लिए भी नाबार्ड करे काम: अग्रवाल

देहरादून, कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल से नाबार्ड के अधिकारियों ने शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान मंत्री डॉ अग्रवाल ने राज्य के विकास को...

हृदय रोगियों को मिले बेहतर उपचारः डॉ0 धन सिंह रावत, कोरोनेशन अस्पताल में मेडिट्रीना हार्ट सेंटर का विधिवत शुभारम्भ

देहरादून, जिला कोरोनेशन अस्पताल देहरादून में पीपीपी मोड़ में संचालित मेडिट्रीना ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल के हार्ट सेंटर में अब बच्चों की हार्ट सर्जरी सहित...

जिला पंचायत अध्यक्ष की मिलीभगत से हुआ नंदा राजजात जैसी धार्मिक और पवित्र यात्रा टेंडर प्रक्रिया में भ्रष्टाचार: महाराज, चमोली जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी...

देहरादून। नंदा राजजात जैसी धार्मिक और पवित्र यात्रा जिसमें श्रद्धालु दान देते हैं उसकी टेंडर प्रक्रिया में हेराफेरी और मिलीभगत बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मामले...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

नाबार्ड के अधिकारियों ने वित्तमंत्री प्रेमचंद अग्रवाल से की मुलाकात, राज्य की अनुसूचित जनजाति के उत्थान के लिए भी नाबार्ड करे काम: अग्रवाल

देहरादून, कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल से नाबार्ड के अधिकारियों ने शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान मंत्री डॉ अग्रवाल ने राज्य के विकास को...

हृदय रोगियों को मिले बेहतर उपचारः डॉ0 धन सिंह रावत, कोरोनेशन अस्पताल में मेडिट्रीना हार्ट सेंटर का विधिवत शुभारम्भ

देहरादून, जिला कोरोनेशन अस्पताल देहरादून में पीपीपी मोड़ में संचालित मेडिट्रीना ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल के हार्ट सेंटर में अब बच्चों की हार्ट सर्जरी सहित...

जिला पंचायत अध्यक्ष की मिलीभगत से हुआ नंदा राजजात जैसी धार्मिक और पवित्र यात्रा टेंडर प्रक्रिया में भ्रष्टाचार: महाराज, चमोली जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी...

देहरादून। नंदा राजजात जैसी धार्मिक और पवित्र यात्रा जिसमें श्रद्धालु दान देते हैं उसकी टेंडर प्रक्रिया में हेराफेरी और मिलीभगत बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मामले...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लक्ष्मण विद्यालय इंटर कॉलेज, पथरीबाग में स्कूली बच्चों के साथ ‘परीक्षा पे चर्चा- 2023’ कार्यक्रम में किया प्रतिभाग, विद्यार्थियों...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से ‘परीक्षा पे चर्चा- 2023’ कार्यक्रम में देश के छात्र-छात्राओं, अध्यापकों एवं अभिभावकों से संवाद किया।...

राज्यपाल ने राजभवन और परेड ग्राउंड में फहराया राष्ट्रीय ध्वज, राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने सराहनीय सेवाओं के लिए किया पुलिस अधिकारियों को सम्मानित

* राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने सड़क हादसे में क्रिकेटर ऋषभ पंत की सहायता करने वाले चालक, परिचालक व अन्य दो लोगों को किया सम्मानित। *...

देहरादून में ’सामूहिक वन्देमातरम् गायन कार्यक्रम’ का आयोजन, हमारा देश विभिन्न सम्प्रदायों, भाषाओं, जातियों एवं संस्कृतियों से परिपूर्ण राष्ट्र है: सीएम धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारा देश विभिन्न सम्प्रदायों, भाषाओं, जातियों एवं संस्कृतियों से परिपूर्ण राष्ट्र है। इन सभी अनेकताओं को एकता...

घायल क्रिकेटर ऋषभ पंत की मदद करने वाले हुए सम्मानित, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की घोषणानुसार सौंपा गई एक एक लाख की सम्मान राशि...

गणतंत्र दिवस के अवसर पर परेड ग्राउंड देहरादून में राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सड़क हादसे...

श्री बदरीनाथ धाम के कपाट इस यात्रा वर्ष 27 अप्रैल को खुलेंगे, राजमहल नरेंद्र नगर में आयोजित धार्मिक समारोह में कपाट खुलने की हुई...

नरेंद्र नगर/ ऋषिकेश। विश्व प्रसिद्ध श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 27 अप्रैल को प्रात: 7 बजकर 10 मिनट बजे खुलेंगे जबकि गाडू घड़ा तेल...

CM आवास में मनाया गया गणतंत्र दिवस, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया ध्वजारोहण

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में राष्ट्रीय ध्वज फहराया। इस अवसर पर उन्होंने सभी को संविधान की...

दलित युवक की पिटाई के मुद्दे पर RPI (A) ने की चर्चा, इस तरह की घटना है बेहद ही दुर्भाग्यपूर्ण: सेठपाल सिंह

उत्तरकाशी में मन्दिर जाने से रोकने पर दलित युवक की पिटाई का मुद्दा लगातार गर्मा रहा है। रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया आठवले के प्रदेश...