उत्तराखंड

पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने केदारनाथ त्रासदी के मृतकों को दी श्रधांजलि, कहा- त्रासदी से हम सबको सबक़ लेते हुए प्रकृति को बचाने का करना चाहिए काम

देहरादून। प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने बुधवार को 8 साल पूर्व केदारनाथ त्रासदी में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि व्यक्त करते हुए हुतात्माओं के परिजनों के प्रति सहानुभूति व्यक्त की। प्रदेश के पर्यटन एवं सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने कैंप कार्यालय पर उत्तराखंड के केदारनाथ समेत पर्वतीय जिलों में आठ साल पहले 16 जून 2013 की भीषण आपदा में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि देते हुए उनके परिजनों के प्रति अनुभूति प्रकट की। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि 8 साल पूर्व भीषण आपदा में केदारनाथ एवं उसके आसपास भारी तबाही का मंजर देखने को मिला था। इस दौरान जान माल का भारी नुकसान हुआ आपदा में हजारों लोग हताहत हुए आज केदारनाथ आपदा की आठवीं बरसी है। उन्होंने कहा कि जिन परिवारों ने अपनों को खोया था उनके परिजनों के प्रति हमेशा मेरी सहानुभूति रहेगी। पर्यटन मंत्री महाराज ने कहा कि आपदा के बाद से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में केदारपुरी को संवारने के साथ साथ पुनर्निर्माण कार्य जोरों पर है। पहले की अपेक्षा अब केदारपुरी में काफी कुछ बदल गया है। उन्होने कहा कि 16 जून 2013 में आई आपदा ने केदारनाथ में भारी तबाही मचाई थी। जलप्रलय के खौफ ने घाटी के सैकड़ों परिवारों को मैदानों में पलायन करने पर मजबूर कर दिया था। इस हृदय विदारक त्रासदी से हमें सबक लेना चाहिए। महाराज ने कहा कि हम अनावश्यक रूप से प्रकृति के दोहन से बचें और धार्मिक मान्यताओं के अनुरूप देवभूमि में अपना आचरण करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *