उत्तराखंड

बड़ी ख़बर: चरस तस्करी में पकड़े गए दोनो सिपाही नौकरी से बर्खास्त, DGP अशोक कुमार ने आगे के लिए भी सख़्त निर्देश किए जारी

देहरादून– डीजीपी उत्तराखंड अशोक कुमार ने नशे का कारोबार करते हुए पकड़े गए दोनों पुलिसकर्मियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया है। DGP ने साफ तौर पर कहा कि भविष्य में भी अगर इस तरीके से अपराधिक गतिविधियों में पुलिसकर्मी सम्मिलित होंगे तो उनके लिए पुलिस फोर्स में कोई जगह नहीं होगी। गौरतलब है कि शनिवार को दो सिपाही चरस की तस्करी में अरेस्ट किए गए है।

चम्पावत जिले के निवासी दो सिपाही यूएस नगर के किच्छा में आठ किलो चरस के साथ गिरफ्तार हुए थे । इनमें एक सिपाही चम्पावत कोतवाली जबकि दूसरा पिथौरागढ़ ज़िले में तैनात है। दोनों सिपाही मूल रूप से चम्पावत जिले के ही निवासी हैं। यूएस नगर पुलिस ने इस मामले में दो अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है। चम्पावत कोतवाली में तैनात सिपाही प्रदीप फत्र्याल लंबे समय से चरस तस्करी का गिरोह चल रहा था। वर्दी की आड़ में वह चम्पावत से सस्ते दामों में चरस खरीदकर यूएस नगर समेत अन्य इलाकों में तस्करी में जुटा हुआ था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने सरगना सिपाही प्रदीप फत्र्याल,  पिथौरागढ़ के सिपाही प्रभात बिष्ट समेत अन्य को गिरफ्तार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *