Monday, May 27, 2024
Latest:
उत्तराखंड

भारतीय वन अकादमी में दोबारा से कोरोना की एंट्री

देहरादून- एफ़आरआई से बड़ी ख़बर सामने आइ है। जहाँ प्रशिक्षु आईएफ़एस अधिकारी निकला है कोरोना पॉज़िटिव। 15 जुलाई से केंद्र की गाइडलाइन के बाद खोली गई थी IGNFA यूनिवर्सिटी। 54 प्रशिक्षु IFS अधिकारियों के लिए गए थे सैम्पल, 43 की रिपोर्ट आइ नेगेटिव, 01 अधिकारी की रिपोर्ट कोरोना पॉज़िटिव। अकादमी ने प्रशिक्षु अधिकारी को किया isolate। ज़िला प्रशासन को भेजी गई रिपोर्ट। IGNFA में ही प्रशिक्षु IFS अधिकारी निकला था उत्तराखंड का पहला कोरोना पॉज़िटिव केस

देश में अनलॉक 2.0 की प्रक्रिया के दौरान, गृह मंत्रालय / कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा केंद्रीय प्रशिक्षण संस्थानों के लिए जारी दिशा-निर्देशों के अनुसरण में, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी को 15/07/2020 से खोला गया। देश के विभिन्‍न राज्‍यों से अपना प्रशिक्षण पूर्ण करने हेतु लौटे 2019 बैच के भारतीय वन सेवा के अधिकारी प्रशिक्षुओं को उत्‍तराखंड राज्‍य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा पत्र सं. 385/USDMA/792 (2020) dated 02 July, 2020 द्वारा जारी एसओपी के अंतर्गत किए गए राज्‍यों के वर्गीकरण के अनुसार, अकादमी के एक्‍जीक्‍यूटिव हॉस्‍टल और ओल्‍ड हॉस्‍टल फेसिलिटी में क्‍वारंटाइन किया गया है तथा जिला प्राधिकरण के परामर्श से सरकार द्वारा निर्धारित समस्‍त प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए इन परिवीक्षार्थियों को न्‍यू फॉरेस्‍ट हॉस्‍पीटल, एफआरआई से चिकित्‍सा सहायता उपलब्‍ध कराई जा रही है। हाल ही में जिले के डिप्‍टी चीफ मेडिकल ऑफिसर द्वारा भी इस क्‍वारंटाइन फेसिलिटी का निरीक्षण किया गया है। अकादमी द्वारा एहतियादी कदम उठाते हुए बाहर से आनेवाले इन सभी अधिकारियों के 100 प्रतिशत कोविड-19 जांच का निर्णय लिया गया। तदनुसार, अन्‍य राज्‍यों से आए तथा 22.07.2020 को क्‍वारंटाइन फेसिलिटी में उपस्थित सभी 54 प्रशिक्षु अधिकारियों के सैम्‍पल जिला प्राधिकरण द्वारा लिए गए। अब तक प्राप्‍त परिणामों में 43 मामले कोविड निगेटिव तथा 1 पोजिटिव मामला सामने आया है। इस पोजिटिव परिवीक्षार्थी तथा उनके नजदीकी संपर्क में आए व्‍यक्तियों को पहले ही आइसोलेशन में रखा गया है तथा मामले में आगे के प्रबंधन हेतु अकादमी द्वारा जिला प्रशासन से संपर्क किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *