Thursday, May 23, 2024
Latest:
उत्तराखंड

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खेली फूलों की होली, होली पर्व में पानी का ना इस्तेमाल करने की जनता को सलाह, राजनीति को बताया काली सुरंग

 उत्तराखंड प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में डोईवाला विधायक त्रिवेंद्र सिंह रावत देहरादून के बालावाला में बसन्तोत्सव गढ़ कार्यक्रम में शामिल हुए। होली मिलन के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में त्रिवेंद्र रावत ने जनसभा को भी संबोधित किया, जहां उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़े के बाद खुलकर अपनी बात रखी है। मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद त्रिवेंद्र रावत का यह पहला जन कार्यक्रम था, जहां उन्होंने प्रदेश के लिए काम करने को लेकर अपनी दृढ़ इच्छा दिखाई। कार्यक्रम के दौरान सभी को शुभकामनाएं दी साथ ही प्रस्तुति देने वाले बच्चों को धनराशि सौंपी। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री ने राजनीति को काली सुरंग बताया है। जनसभा को संबोधित करते हुए त्रिवेंद्र ने कहा, इस राजनीति के काली सुरंग में आप कभी भी त्रिवेंद्र को ऐसा नही पाएंगे जिससे हमारी माताओं, बहनों और बेटियों को कोई दिक्कत होगी। उन्होंने कहा मैंने महिलाओं, युवाओं और राज्य के हित के लिए काम किया, जिस वजह से किन्हीं चंद लोगों का अनहित हो रहा था।

कार्यक्रम के दौरान त्रिवेंद्र पूरी तरह से ऊर्जावान दिखे, उन्होंने कहा मैं आपका हूं, आपके बीच रहूंगा, आपके लिए काम करुंगा। मैं पूरी ईमानदारी से काम करुंगा जिसके लिए मुझे कोई हटा नही सकता। ‘हरदा’ का भी आया ख्याल। त्रिवेंद्र की छवि विपक्षी नेताओं का ख्याल रखने वाली रही है। वो हमेशा से सभी नेताओं की कुशल क्षेम पूछते रहते हैं। हरीश रावत के कोरोना संक्रमित होने पर उन्होंने बुधवार को फोन पर बातचीत कर उनका हाल पूछा। कोरोना संक्रमण के कारण हरीश रावत को दिल्ली एम्स रेफर किया गया है। जिसके लिए त्रिवेंद्र ने केंद्रीय मंत्री से बातचीत कर, एम्स दिल्ली में हरीश रावत के लिए पूरी व्यवस्था रखने के लिए आग्रह किया। कुशल प्रशासक की छवि। त्रिवेंद्र एक कुशल प्रशासक हैं इसका पता इस बात से ही चलता है कि सीएम पद से इस्तीफा देने के बाद भी वो कोरोना वायरस को लेकर रोज जानकारी ले रहे हैं और विशेषज्ञों से बातचीत करते रहते हैं। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि कोरोना लगातार बढ़ रहा है जिसको लेकर सावधानी की जरुरत है। उन्होंने कहा, कोरोना हमारे फैफड़ों को जकड़ लेता है, इसलिए होली में पानी का इस्तेमाल ना करें और सावधानी से त्यौहार मनाएं। संक्रमण के बढ़ते मामलों पर त्रिवेंद्र ने कहा शारीरिक दूरी का ख्याल रखना होगा, ताकि कोरोना के मामले ना बढ़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *