Monday, June 24, 2024
Latest:
उत्तराखंड

राजधानी देहरादून के सभी कोविड अस्पताल हुए फुल, तत्काल 1000 बैड का ऑक्सीजन युक्त आपातकालीन अस्पताल तैयार करे सरकार-धस्माना

देहरादून: उत्तराखंड में स्वास्थ्य सेवाएं आज लगातार चौथे दिन भी चरमराई रही, सरकारी दून मेडिकल कालेज, जोली ग्रांट स्वामी राम हिमालयन हॉस्पिटल, मैक्स, सिनर्जी , आरोग्य धाम सहित सभी सरकारी व निजी हस्पतालों में बैड आईसीयू वेंटिलेटर जरूरतमंद मरोजों को नहीं मिल पाए यह आरोप लगाते हुए उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष व कांग्रेस के द्वारा स्थापित कोविड19 कण्ट्रोल रूम के प्रभारी सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि आज दूसरे दिन भी सरकारी दावों के बावजूद जीवन रक्षक इंजेक्शन रेमिडिसेर लोगों को नहीं मिल पाया। धस्माना ने कहा कि आज भी दिन भर कोविड मरीजों व उनके परिजनों का इलाजे के लिए किसी भी हस्पताल में बैड दिलवाने के लिए फोन आते रहे लेकिन सभी हस्पतालों ने एक भी नया मरीज लेने से हाथ खड़े कर दिए। उन्होंने कहा कि उन्होंने राज्य की स्वास्थ्य महानिदेशिका, सीएमओ व दून हॉस्पिटल के प्राचार्य सभी से रेमिडिसेर इंजेक्शन की स्थिति के बारे में सुबह से लेकर शाम तक जानकारी ली किन्तु अभी नहीं पहुंचा और पहुंचते ही आपको सूचित करेंगे यही जवाब मिला। धस्माना ने कहा कि राज्य के स्वास्थ्य सचिव पंकज पांडे ने कई बार फोन लगाने पर भी फोन नहीं उठाया तो इससे राज्य के स्वास्थ्य विभाग की सेहत के बारे में आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है। धस्माना ने एक बार फिर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से मांग की कि बिना समय गंवाए सरकार को 1000 बैड का अस्थायी ऑक्सीजन आईसीयू व वेंटिलेटर युक्त हॉस्पिटल तैयार करना चाहिए जिससे लोगों की जान बचाई जा सके। उन्होंने मांग की कि रेमिडिसेर समेत तमाम दवाओं के वितरण की मॉनिटरिंग के लिए जिम्मेदार अधिकारियों की कमेटी बनाई जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *