उत्तराखंडदेश

महाकुम्भ में covid रिपोर्ट नेगेटिव होने पर ही मिलेगी एंट्री, मुख्यसचिव ने आदेश किए जारी

हरिद्वार कुंभ के लिए उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने बयान  देते हुए कहा कि हरिद्वार कुंभ में आने के लिए 72 घंटे पहले कोविड नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य है। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि उच्च न्यायालय ने स्पष्ट आदेश दिए है कि जो भी हरिद्वार कुंभ में स्नान के लिए आएगा वह अपनी 72 घंटे पहले की कोविड- नेगेटिव रिपोर्ट साथ लेकर आएगा। दरअसल 1 अप्रैल से हरिद्वार कुंभ का नोटिफिकेशन जारी हुआ है ऐसे में हरिद्वार कुंभ में स्नान के लिए देश-विदेश से लोग पहुंचते हैं लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते इस बार हरिद्वार कुंभ 4 महीने की जगह 1 महीने का ही निश्चित किया गया है। ताकि कोविड-19 को फैलने से रोका जा सके सबसे बड़ी बात यह है कि अगर हरिद्वार कुंभ में बड़ी तादाद में लोग आते हैं तो ऐसे में कोविड- संक्रमण तेजी से फैल सकता है। हालांकि कई देशों में दोबारा से कोरोना संक्रमण तेजी से फैला है और कई देशों ने संक्रमण वाले क्षेत्रों में लॉकडाउन भी लगाया है। भारत की ही बात करें तो भारत में भी कई ऐसे राज्य हैं जहां पर कोविड के मामले तेजी से दोबारा आए हैं। ऐसे में हरिद्वार में होने वाले कुंभ को लेकर भारत सरकार ने चिंता जाहिर की है। हालांकि इससे पहले भी केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव की तरफ से हरिद्वार कुंभ के लिए गाइडलाइन जारी की गई थी। जिसमें कहा गया था कि जो भी हरिद्वार कुंभ में स्नान करने के लिए श्रद्धालु आएगा वह 72 घंटे पहले की कोविड नेगेटिव रिपोर्ट जरूर लेकर आएगा। वहीं हरिद्वार कुंभ में पिछले स्नान के बाद जिस तरीके से कोविड-19 मिले बड़े हैं उससे केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है और एक बार फिर से उन्होंने उत्तराखंड का हाल ही में दौरा किया था केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पाया कि हरिद्वार क्षेत्र में 10 से 20 लोग संक्रमित तेजी से हो रहे हैं ऐसे में इसको लेकर कड़े निर्देश दिए थे कि हरिद्वार कुंभ मे कोविड-19 के मामले और बढ़ाए जाने की ज्यादा जरूरत है 70 फ़ीसदी आरटी पीसीआर टेस्ट और 30 फ़ीसदी एंटीजन टेस्ट कराए जाने को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सुझाव दिया था। हरिद्वार कुंभ में स्नान को लेकर राजनीति भी तेजी से उत्तराखंड में हो रही है पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पहले ही इस बारे में कहा था कि कुंभ में स्नान को लेकर जो केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन है उसके मुताबिक ही इजाजत दी जाएगी लेकिन राज्य में नेतृत्व परिवर्तन के बाद मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जिस प्रकार से बयान दिया कि कुंभ में किसी को भी रोक टोक नहीं है कोई भी स्नान के लिए आ सकता है अब ऐसे में एक बार फिर से उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने बयान देते हुए कहा है कि उच्च न्यायालय के अनुसार ही गाइडलाइन का अनुपालन किया जाएगा और कुंभ में स्नान के लिए जो भी श्रद्धालु आएगा वह 72 घंटे पहले की कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट जरूर लाएगा यानी अब हरिद्वार में जो भी स्नान के लिए आएगा उसके पास कोविड- नेगेटिव रिपोर्ट 72 घंटे पहले की होनी जरूरी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *