Sunday, January 29, 2023
Home पर्यटन जानें, गीता दृष्टिकोण से योग के कितने प्रकार होते हैं और क्या...

जानें, गीता दृष्टिकोण से योग के कितने प्रकार होते हैं और क्या हैं इसके फायदे

जानें, गीता दृष्टिकोण से योग के कितने प्रकार होते हैं और क्या हैं इसके फायदे

भगवान श्रीकृष्ण गीता में अर्जुन से कहते हैं कि जीवन में सबसे बड़ा योग कर्म योग है। इस बंधन से कोई मुक्त नहीं हो सकता है अपितु भगवान भी कर्म बंधन के पाश में बंधे हैं। योग की उत्पत्ति अति प्राचीन है। चिरकाल से इस क्रिया को किया जा रहा है। स्वयं भगवान शिव भी योग मुद्रा में कैलाश पर विराजमान हैं। ऐसा कहा जाता है कि सबसे बड़े तपस्वी भगवान शिव हैं, जो हर समय ध्यान योग करते रहते हैं। द्वापर युग में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को गीता उपदेश दिया। इस उपदेश में उन्होंने योग के 18 प्रकार बताए हैं। आइए, योग के 18 मुद्राओं और उनके फायदे के बारे में जानते हैं –

विषाद योग
इसका अर्थ है-कालांतर में जब अर्जुन के मन में भी भय और निराशा पैदा हो गया था। उस समय भगवान श्रीकृष्ण ने उन्हें गीता उपदेश देकर उनका मार्ग प्रशस्त किया।

सांख्य योग
इसका अर्थ है-पुरुष प्रकृति की विवेचना अथवा पुरुष तत्व का विश्लेषण करना है। जब व्यक्ति किसी अवसाद से गुजरता है तो उसे सांख्य योग अर्थात पुरुष प्रकृति का विश्लेषण करना चाहिए।

कर्म योग
भगवान श्रीकृष्ण गीता में अर्जुन से कहते हैं कि जीवन में सबसे बड़ा योग कर्म योग है। इस बंधन से कोई मुक्त नहीं हो सकता है, अपितु भगवान भी कर्म बंधन के पाश में बंधे हैं। सूर्य और चंद्रमा अपने कर्म मार्ग पर निरंतर प्रशस्त हैं। अतः तुम्हें भी कर्मशील बनना चाहिए।

ज्ञान योग
भगवान श्रीकृष्ण कहते हैं कि ज्ञान से बढ़कर इस दुनिया में कोई चीज नहीं है। इससे न केवल अमृत की प्राप्ति होती है, बल्कि व्यक्ति कर्म बंधनों में रहकर भी भौतिक संसर्ग से विमुक्त रहता है।

कर्म वैराग्य योग
यह योग बताता है कि व्यक्ति को कर्म के फलों की चिंता नहीं करनी चाहिए। अपितु कर्मशील रहना चाहिए। ईश्वर बुरे कर्मों का बुरा फल और अच्छे कर्मों का अच्छा फल देते हैं।

ध्यान योग
इस योग की महत्ता आधुनिक समय में सबसे अधिक है। इसे करने से मन और मस्तिष्क दोनों ही विचलित नहीं होता है।

विज्ञान योग
इस योग में व्यक्ति को सत्य मार्ग पर अविचल भाव से चलते रहना है। इसमें सत्य अर्थात ज्ञान की खोज की जाती है। इसमें साधक को तपस्वी बनना पड़ता है।

अक्षर ब्रह्म योग
गीता के आठवें अध्याय में भगवान मधुसूदन ने अर्जुन को ब्रह्मा, अधिदेव, अध्यात्म और आत्म संयमी के बारे में बताया है। व्यक्ति को भौतिक जीवन का निर्वाह शून्य में स्थित रहकर करना चाहिए। इस योग के साधक भक्ति काल में निर्गुण विचारधारा के थे।

राज विद्या गुह्य योग
इस योग में स्थिर रहकर व्यक्ति परम ब्रह्म के सर्वश्रेष्ठ ज्ञान को हासिल करने की कोशिश करता है। व्यक्ति को परम ज्ञान प्राप्ति के लिए राज विद्या गुह्य योग करना चाहिए।

विभूति विस्तारा योग
इस योग में साधक परम ब्रह्म के सानिध्य ध्यान केंद्रित कर ईश्वर मार्ग पर प्रशस्त रहता है।

विश्वरूप दर्शन योग
इस योग को परम और अनंत माना गया है। ऐसा कहा जाता है कि भगवान ने यह विराट रूप योग के माध्यम से प्राप्त की है।

भक्ति योग
यह योग ईश्वर प्राप्ति के लिए सबसे सर्वश्रेष्ठ योग है। भगवान श्रीकृष्ण ने गीता में विस्तार से इसका वर्णन किया है कि कैसे कोई भक्ति के माध्यम से भगवद्धाम प्राप्त कर सकता है।

क्षेत्र विभाग योग
इस योग के माध्यम से साधक आत्मा, परमात्मा और ज्ञान को जान पाता है। इस योग में रमने वाले साधक योगी कहलाते हैं।

RELATED ARTICLES

उत्तराखंड में विंटर टूरिज्म की अपार संभावनाएं: महाराज, मुम्बई में तीन दिवसीय इंटरनेशनल ट्रैवल एंड टूरिज्म फेयर (टीटीएफ) का हुआ शुभारंभ

मुम्बई/देहरादून। तीन दिवसीय इंटरनेशनल ट्रैवल एंड टूरिज्म फेयर (टीटीएफ) का माया नगरी मुम्बई में प्रदेश के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और महाराष्ट्र की पर्यटन...

चारधाम यात्रा संचालन को लेकर एक मंच पर आई कई एसोसिएशन, 05 अगस्त को बद्रीनाथ धाम में होगी महापंचायत

कोरोना संक्रमण की वजह से स्थगित की गई चारधाम यात्रा शुरू करने की मांग को लेकर बद्रीनाथ धाम के हक हकूक धारियों ने पांडुकेश्वर...

एक जुलाई से चारधाम यात्रा का होगा शुभारम्भ, पहले चरण में केवल धाम के स्थानीय जनपदवासियों को शासन की अनुमति

तीरथ सरकार चारधाम यात्रा को एक जुलाई से खोलने का फ़ैसला किया है। एक जुलाई से यात्रा के पहले चरण में बदरीनाथ धाम जाने...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

गौ तस्करी पर सख़्त धामी सरकार, अपराधियों पर होगी गैंगस्टर एक्ट में कारवाई

उत्तराखंड में पशु तस्करों को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सरकार ने सख्त रुख अपना दिया है। मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद उत्तराखंड पुलिस...

RTI खुलासा: विधानसभा बैकडोर भर्ती का मामला फिर से गर्माया, जांच को बनी विशेषज्ञ समिति ने 2001 से लेकर 2021 तक की सभी 396...

उत्तराखंड विधानसभा की नियुक्तियों की जांच के लिए बनाई गयी विशेषज्ञ समिति ने 2001 से लेकर 2021 तक की सभी 396 तदर्थ नियुक्तियों को...

उत्तराखंड एसटीएफ ने हाथी दांत के साथ तीन वन्य जीव तस्करों को किया गिरफ्तार, गिरफ्तार अभियुक्तों के अंतरराज्यीय तस्करों के साथ संबंध

🔸 *उत्तराखंड एसटीएफ ने हाथी दांत के साथ तीन वन्य जीव तस्करों को किया गिरफ्तार ।।* 🔸 *गिरफ्तार अभियुक्तों के अंतरराज्यीय तस्करों के साथ संबंध।।* 🔸...

नाबार्ड के अधिकारियों ने वित्तमंत्री प्रेमचंद अग्रवाल से की मुलाकात, राज्य की अनुसूचित जनजाति के उत्थान के लिए भी नाबार्ड करे काम: अग्रवाल

देहरादून, कैबिनेट मंत्री डॉ प्रेमचंद अग्रवाल से नाबार्ड के अधिकारियों ने शिष्टाचार भेंट की। इस दौरान मंत्री डॉ अग्रवाल ने राज्य के विकास को...

हृदय रोगियों को मिले बेहतर उपचारः डॉ0 धन सिंह रावत, कोरोनेशन अस्पताल में मेडिट्रीना हार्ट सेंटर का विधिवत शुभारम्भ

देहरादून, जिला कोरोनेशन अस्पताल देहरादून में पीपीपी मोड़ में संचालित मेडिट्रीना ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल के हार्ट सेंटर में अब बच्चों की हार्ट सर्जरी सहित...

जिला पंचायत अध्यक्ष की मिलीभगत से हुआ नंदा राजजात जैसी धार्मिक और पवित्र यात्रा टेंडर प्रक्रिया में भ्रष्टाचार: महाराज, चमोली जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी...

देहरादून। नंदा राजजात जैसी धार्मिक और पवित्र यात्रा जिसमें श्रद्धालु दान देते हैं उसकी टेंडर प्रक्रिया में हेराफेरी और मिलीभगत बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। मामले...

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने लक्ष्मण विद्यालय इंटर कॉलेज, पथरीबाग में स्कूली बच्चों के साथ ‘परीक्षा पे चर्चा- 2023’ कार्यक्रम में किया प्रतिभाग, विद्यार्थियों...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से ‘परीक्षा पे चर्चा- 2023’ कार्यक्रम में देश के छात्र-छात्राओं, अध्यापकों एवं अभिभावकों से संवाद किया।...

राज्यपाल ने राजभवन और परेड ग्राउंड में फहराया राष्ट्रीय ध्वज, राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने सराहनीय सेवाओं के लिए किया पुलिस अधिकारियों को सम्मानित

* राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने सड़क हादसे में क्रिकेटर ऋषभ पंत की सहायता करने वाले चालक, परिचालक व अन्य दो लोगों को किया सम्मानित। *...

देहरादून में ’सामूहिक वन्देमातरम् गायन कार्यक्रम’ का आयोजन, हमारा देश विभिन्न सम्प्रदायों, भाषाओं, जातियों एवं संस्कृतियों से परिपूर्ण राष्ट्र है: सीएम धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हमारा देश विभिन्न सम्प्रदायों, भाषाओं, जातियों एवं संस्कृतियों से परिपूर्ण राष्ट्र है। इन सभी अनेकताओं को एकता...

घायल क्रिकेटर ऋषभ पंत की मदद करने वाले हुए सम्मानित, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की घोषणानुसार सौंपा गई एक एक लाख की सम्मान राशि...

गणतंत्र दिवस के अवसर पर परेड ग्राउंड देहरादून में राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सड़क हादसे...