Monday, July 15, 2024
Latest:
उत्तराखंड

NSUI ने प्रदेशभर में शुरू किया कैंपन- ‘नौकरी दो या डिग्री वापस लो’, कैंपेन से जुड़ने के लिए मिस कॉल नंबर 7290800850 किया जारी

NSUI के राष्ट्रीय सचिव व प्रदेश प्रभारी सतवीर चौधरी ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि आज से एनएसयूआई पूरे देशभर में चल रहे कैंपेन- कार्यक्रम को उत्तराखंड में लॉच कर रही है। इस कैंपन का नाम होगा– ‘नौकरी दो या डिग्री वापस लो’। जिस तरीके से हम सब लोगों को पता है, आजाद भारत में आज सबसे ज्यादा बेरोजगारी का स्तर पहुँच गया है। इस वर्तमान की सरकार ने सबसे बड़ा धोखा देने का काम अगर किसी को किया, तो वो छात्र वर्ग को किया, कि जिस तरीके से उनको बड़े-बड़े सपने दिखाए गए थे, 2-2 करोड़ नौकरियां देने का उनको वायदा किया था और आज जो छात्र वर्ग, अपने आपको ठगा महसूस कर रहा है। सरकार की गलत नीतियों की वजह से बेरोजगारी आज सबसे ज्यादा है, जिससे स्टूंडेंस फोर्स हो चुके हैं कि उनकी जो डिग्री है, वो किसी काम की नही रही है। जिस तरीके से मैं आप लोगों के बीच में बताऊं, अनप्लॉन तरीके से लॉकडाउन भी जब किया गया, तो उसमें कहीं पर भी इस चीज को सुनिश्चित या कोई प्लानिंग नहीं रखी गई कि जो फाइनल ईयर के बच्चे थे, उनकी प्लेसमेंट कैसे होगी, क्योंकि कैंपेस क्लोज थे। तो प्लेसमेंट जो थी, उन फाइनल ईयर स्टूडेंट्स की बिल्कुल नहीं हो पाई।

और बाकी मैं एसएससी एग्जाम की बात करुं, तो हमने देखा कि सबसे पहले एसएससी एग्जाम में कैसे स्कैम होता है। 2-2 साल तक एसएससी के जो स्टूडेंट्स हैं, उनके एग्जाम नहीं होते। 2 साल का उनका सैशन जो है, वो वेस्ट होता है और जिसका सीधा-सीधा फर्क रोजगार पर पड़ता है और बेरोजगारी बढ़ती है। रेलवे के लिए मैं आपको बता दूं, कि 1,250 करोड़ सरकार जो है, उनकी फीस के तौर पर जो बच्चे आवेदन करते हैं, उनके तौर पर लेते हैं और उनका भी एग्जाम दो से तीन साल के बाद करवाया जाता है। तो इस तरीके से कई ऐसे उदाहरण हैं, जो साफ़ दिखाते हैं कि सरकार स्टूडेंट्स को रोजगार देना तो बड़ी दूर की बात रहा, बल्कि इस विषय पर चर्चा तक नहीं करती है। तो उसी को देखते हुए एनएसयूआई का एक प्रयास है कि इस सरकार को, जो एक सरकार जो स्टूडेंट्स और छात्रों के विषय पर, इतने महत्वपूर्ण विषय पर सोई पड़ी है, उसे जगाने के लिए हमने ये कैंपेन जो है, वो लॉच किया है, ‘नौकरी दो या डिग्री वापस लो’। जिसमें देशभर के जो स्टूडेंट्स हैं, जो छात्र हैं, वो विभिन्न राज्यों से अपनी डिग्री जो है, वो प्रधानमंत्री जी को मेल करेंगे, वो प्रधानमंत्री जी को चिट्ठी पोस्ट करेंगे, ताकि शायद उन चिट्ठियों को देखकर प्रधानमंत्री जी को ये अहसास हो कि उनके देश का जो भविष्य है, उनके पास डिग्रियां पड़ी हैं, लेकिन उन्हें रोजगार और नौकरी देने के लिए सरकार जो है, वो असफल है। उसमें भी हमने आज भी यहाँ से उस कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे कि हमने अपनी-अपनी डिग्री जो है, वो इसी तरीके से इसके अंदर स्टूडेंट्स की डिग्री हैं, वो डाली हैं। इसी तरीके से वो डिग्री को प्रधानमंत्री जी के ऐड्रेस पर, सभी लोग उसको पोस्ट करेंगे। तो यही आज की कैंपेन को लॉन्च करने के लिए हम लोग आपके बीच में आए और इसी कैंपेन से जुड़ने के लिए हमने मिस कॉल नंबर भी दिया है – 7290800850, इस नंबर पर मिस कॉल देकर हमारे देशभर के जो छात्र हैं, जो स्टूडेंट्स हैं वो इस कैंपेन से जुड़ सकते हैं। यही बात हम आपके बीच में लेकर आए थे।


इसके बाद एनएसयूआई प्रदेश कार्यकारणी की बैठक भी आयोजित हुई जिसमें प्रदेश के छात्र छात्राओं के मुद्दों पर भी चर्चा की गई। इस अवसर पर एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष मोहन भण्डारी, प्रदेश महासचिव आयुष गुप्ता, गोपाल मोहन भट्ट, आकाश गौड़, सुमित लोहनी, जिला अध्यक्ष सौरभ ममगाईं, गौरव सागर, हरिओम भट्ट, राष्ट्रीय समनव्यक इरम बेग,अभिषेक डोबरियाल, मनीष परमार, हिमांशु रावत, प्रियल ध्यानी, कोमल खुराना, आदित्य बिष्ट, सावन राठौर, उदित थपलियाल, वाशु शर्मा, अंकित बिष्ट, अनुभव, नीरज रावत, उत्कर्ष जैन, विकास नेगी, प्रकाश नेगी,नेहा रावत, अनेकों पदाधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *