Monday, July 15, 2024
Latest:
उत्तराखंड

Glacier burst: रैणी गाँव के लोगों ने कहा शाबास SDRF, देवदूत की भूमिका में SDRF ने सम्भाला है मोर्चा

दैवीय आपदा के तत्काल बाद राज्य एवम देश की अनेक एजेंसियां रेस्कयू कार्य मे जुटी हुई है, जहां एक और सर्चिंग कार्य जारी है, वहीं दूसरी ओर टनल से मजदूरों को सुरक्षित निकालने का प्रयास भी युद्ध स्तर पर जारी है रेस्कयू कार्यों के साथ ही SDRF उत्तराखंड पुलिस की सहायता एवम सर्चिंग हेतु लगातार रेणी गावँ में बनी हुई है जहां रेस्कयू कार्यो के साथ ही ग्रामीणों के सामान को मलवे से सुरक्षित निकाला जा रहा है। जोशीमठ के रेणी गाँव के वे घर जहां त्रासदी के बाद मलवा फंसा हुआ था वहां पहुंच कर SDRF उत्तराखंड पुलिस के जवानों के द्वारा मलवा हटा कर सामान को सुरक्षित स्थान पर पहुँचाया गया, खाद्यान्न को सुरक्षित किया, साथ ग्रामीणों से उनकी समस्या भी जानने की कोशिश की गयी। जहाँ SDRF जवानों के इस मानवीय कार्य की ग्रामीणों द्वारा सराहना की जा रही है वहीं इन्हें उत्तराखंड के देवदूत के नाम से भी पुकारा जा रहा है SDRF की टीमें आपदा के पश्चात से ही प्रभावितों के सामान को सुरक्षित निकालने का कार्य भी के साथ ही अन्य मूलभूत सुविधाओं को सुचारू करने का प्रयास कर रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *